Wednesday , 17 January 2018

Home » अपराध » दमोह: नहीं बदल रहे हालत, फिर छेड़छाड़ का शिकार बनी नाबालिग

दमोह: नहीं बदल रहे हालत, फिर छेड़छाड़ का शिकार बनी नाबालिग

January 12, 2018 1:53 pm by: Category: अपराध, क्षेत्रीय, समाचार Leave a comment A+ / A-

(दमोह) मध्यप्रदेश में सरकार के तमाम दावों और कोशिशों के बाद भी पुलिस थानों में सुधार नहीं हो पा रहा है। भोपाल की वारदात के बाद सरकार ने लड़कियों और महिलाओं के मामलों में पुलिस थानों में संवेदनशीलता बरतने के निर्देश दिए थे। लेकिन हालात पहले जैसे बने हुए हैं। ताजा मामला दमोह का है, जहाँ एक नाबालिग को एक दबंग ने सरेराह पीटा साथ ही उसके साथ छेड़छाड की और जब पीड़िता पुलिस थाने पहुंची तो उसे थाने से भगा दिया गया।

अपने जिस्म पर लगे जख्मों को दिखाती नाबालिग लड़की के साथ एक दबंग ने सरेराह पिटाई और छेड़छाड़ की। जिसके बाद जब नाबालिग और उसका परिवार न्याय की आस लिए पुलिस की पनाह मांगने गया, तो वर्दी वालों ने पनाह देने की बजाय उसे बेइज्जत किया और थाने से भगा दिया। जिले के कुम्हारी थाने के तहत आने वाले चीलघाट गांव में राम सिंह पटेल नाम के दबंग ने इस नाबालिग लड़की से स्कूल से लौटते वक़्त बीच सड़क पर छेड़छाड़ और मारपीट की। जिसकी जाँच में जमीनी विवाद की बात सामने आई। दरअसल रामसिंह और पीड़ित लड़की के परिवार के बीच जमीन का विवाद है। कुछ दिन पहले भी रामसिंह ने इस परिवार के साथ गाली गलौच की थी।  जिसकी शिकायत पीड़ित परिवार ने पुलिस में की और इस बात से राम सिंह नाराज था और उसने एक मासूम को निशाना बनाया।

एक आरोपी ने जो किया वो अपनी जगह है, लेकिन इलाके में पुलिस का गैर जिम्मेदाराना रवैया सामने आया। जब जख्मी लड़की और उसका परिवार कुम्हारी पुलिस थाने पहुंचा, तो पुलिस वालों ने शिकायत दर्ज करने के बजाय पीड़ित परिवार के साथ गाली गलौच की और भगा दिया। पूरी रात दर्द से कराहती रही नाबालिग दमोह आई, तो जिले के एसपी के सामने अपनी आपबीती सुनाई। जिसे देखकर एसपी ने संवेदनशीलता का परिचय दिया और देर शाम आखिरकार दमोह पुलिस कोतवाली में नाबालिग की रिपोर्ट पर मामला कायम किया गया है। एसपी के निर्देश पर कोतवाली पुलिस ने मामला दर्ज किया। साथ ही रामसिंह के खिलाफ पास्को एक्ट और मारपीट की धारों में मुकदमा दर्ज कर डायरी कुम्हारी पुलिस थाने भेजी गई है।

दमोह: नहीं बदल रहे हालत, फिर छेड़छाड़ का शिकार बनी नाबालिग Reviewed by on . (दमोह) मध्यप्रदेश में सरकार के तमाम दावों और कोशिशों के बाद भी पुलिस थानों में सुधार नहीं हो पा रहा है। भोपाल की वारदात के बाद सरकार ने लड़कियों और महिलाओं के मा (दमोह) मध्यप्रदेश में सरकार के तमाम दावों और कोशिशों के बाद भी पुलिस थानों में सुधार नहीं हो पा रहा है। भोपाल की वारदात के बाद सरकार ने लड़कियों और महिलाओं के मा Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top