Tuesday , 12 December 2017

Home » यूथ कॉर्नर » लव मैरिज के फायदे और नुकसान जान लीजिए

लव मैरिज के फायदे और नुकसान जान लीजिए

October 20, 2017 6:48 pm by: Category: यूथ कॉर्नर Leave a comment A+ / A-

जब दो प्रेम करने वाले व्यक्ति एक दूसरे से शादी करते है तो इसे प्रेम विवाह कहा जाता है. इस विवाह का आधार ही प्रेम होता है क्योंकि प्रेमी जोड़े एक दूसरे के प्रेम में पड़ कर शादी का निर्णय करते है. वैसे तो प्रेम कभी भी किसी से भी हो सकता है.

यह रीत तो पुराने जमाने से चली आ रही है लेकिन आजकल प्रेम विवाह का ज़्यादा चलन हो गया है क्योंकि बच्चे पढ़ने तथा जॉब करने के लिए घर से ज़्यादातर बाहर रहते है. इसी दौरान उन्हे किसी ना किसी के प्रति आकर्षण हो ही जाता है.

और वो एक दूसरे के प्रेम में इतना खो जाते है की वो अपने प्रेमी के साथ ही अपनी पूरी जिंदगी बिताना चाहते है. तथा वो एक दूसरे से ही शादी करने का फ़ैसला कर लेते है. परंतु विवाह चाहे प्रेम विवाह हो अरेंज, इसमे उतार चढ़ाव आते ही और हर विवाह के फायदे तथा नुकसान भी होते है.

जब व्यक्ति लव मॅरेज करता है तो उस व्यक्ति से विवाह करता है जिससे वो बहुत प्यार करता है. वैसे तो कहा जाता है की जोड़िया आसमानो में बनती है लेकिन प्रेम विवाह में जोड़ी दोनो प्रेमी जोड़े अपने आप बनाते है. आइए जानते है इसके बारे में विस्तार से:-

प्रेम विवाह करने वाले व्यक्ति एक दूसरे को पहले से जानते है तो उन्हे एक दूसरे को समझने में परेशानी नही आती है.
इस विवाह में बंधने वाले जोड़े एक दूसरे की पसंद ना पसंद अच्छे से समझते है तो उनके बीच लड़ाई होने संभावना कम होती है.
प्रेम विवाह करने पर हमारे देश में जाती प्रथा पूरी तरह से ख़तम हो जाएगी और सभी एक दूसरे को समान रूप देखेंगे.
माता पिता को दहेज की चिंता नही करनी पड़ेगी और दहेज के पैसे को माता पिता बेटी की शिक्षा और करियर पर खर्च कर सकेंगे.
दहेज ना लेने पर पढ़े लिखे लड़को को पढ़ी लिखी लड़किया मिल जाएगी जिससे हमारा देश में साक्षर व्यक्ति की संख्या बढ़ेगी.
पति पत्नी की सोच एक दूसरे के बराबर होने से दोनो के बीच समझोते की बात कम देखने को मिलेगी. इनका रिश्ता भी मजबूत रहता है.
शादी करने वालो जोड़े पहले से एक दूसरे को जानते पहचानते है तो एक दूसरे के साथ रहने में ज़्यादा परेशानी नही आएगी.
इस तरह के विवाह में महिलाओ का शोषण कम होता है तथा घरेलू हिंसा जैसे केस होने कम हो जाएगे.
प्रेम विवाह में सोच एक जैसी होने पर फ़ैसले लेने पर दोनो का मत एक जैसा रहेगा. और कोई भी बड़ा फ़ैसला दोनो की राय में लिया जा सकता है.
यदि आपको कोई बात परेशान कर रही है तो आसानी से वो बात आपने साथी के साथ बाँट सकते है और दोनो के बीच में किसी प्रकार की कोई हिचक नही होती है.
प्रेम विवाह के ज़रिए आप ऐसे साथी चुन सकते है जिससे आप समझते है और जो आपकी भावनाओ की कदर करता है.

कई बार तो एक दूसरे के प्रति असुरक्षा की भावना महसूस करने लगते है.
बच्चो का बड़े बूज़रगो का पारिवारिक प्यार तथा सुरक्षा से वंचित रह जाते है.
लड़का तथा लड़की दोनो के परिवारों में तनाव पैदा होता है और झगड़े होने लगते है.
दोनो जोड़े एक दूसरे के समान्तर होते है जिस वजह से उन दोनो के बीच अहम टकराने लगता है.
कई बार प्रेम विवाह होने के बाद ऐसी समस्या आ जाती है जिससे उन दोनो ने कभी सोचा भी नही होगा.

 

कई बार इस रिश्ते को परिवार की मंज़ूरी नही मिल पति है जिससे उन लोगो के बीच में समस्या होने लग जाती है.
आजकल प्रेम विवाह की संख्या बाद रही और ऐसा भी देखा जा रहा है की उन्ही लोगो के बीच में लव मैरिज डाइवोर्स की संख्या बढ़ रही है.
परिवार का सहयोग ना मिलने से पुरानी परंपरा को नही जान पाते जिससे हमारी धरोहर और परम्पराए खोती जा रही है.
प्रेम विवाह में चल रही जिंदगी यदि सोची गई स्थिति से नही गुजरती है तो उनके मन में आत्महत्या का भाव पैदा होने लग जाता है.

इस लेख के माध्यम से लव मैरिज के फायदे और नुकसान दोनो को जान लिया है. यदि आप किसी से प्रेम करते है और विवाह करने का सोच रहे है तो पहले उपर के बिन्दु पर अच्छे से गौर करे ले.

लव मैरिज के फायदे और नुकसान जान लीजिए Reviewed by on . जब दो प्रेम करने वाले व्यक्ति एक दूसरे से शादी करते है तो इसे प्रेम विवाह कहा जाता है. इस विवाह का आधार ही प्रेम होता है क्योंकि प्रेमी जोड़े एक दूसरे के प्रेम जब दो प्रेम करने वाले व्यक्ति एक दूसरे से शादी करते है तो इसे प्रेम विवाह कहा जाता है. इस विवाह का आधार ही प्रेम होता है क्योंकि प्रेमी जोड़े एक दूसरे के प्रेम Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top