Tuesday , 12 December 2017

Home » समाचार » क्षेत्रीय » नीतीश कुमार और योगी के बीच जल्द ही उच्च स्तरीय बैठक

नीतीश कुमार और योगी के बीच जल्द ही उच्च स्तरीय बैठक

October 12, 2017 9:04 pm by: Category: क्षेत्रीय, प्रमुख समाचार, राजनीति, समाचार Leave a comment A+ / A-
सारण- लोकसभा संसदीय क्षेत्र के सांसद राजीव प्रताप रुडी ने लोकनायक जयप्रकाश नारायण की धरती सिताब दियारा को नदी के कटाव से स्थायी निदान दिलाने के अपने प्रयास को तेज कर दिया है। शीघ्र हीं इसके लिए बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की एक उच्च स्तरीय बैठक होगी। जिसमें कटाव से गांव को बचाने के लिए स्थायी सामाधान निकाला जायेगा। सिताब दियारा में नदी के कटाव से गांव को बचाने के लिए आंदोलन कर रहे नागरिकों के बीच रुडी गये और उन्हें यह जानकारी दी। रुडी ने कहा कि आज कार्यक्रम में उपस्थित केन्द्रीय संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार, राज्य के पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद नित्यानंद राय, छपरा विधायक डा॰ सी॰एन॰ गुप्ता, विधायक सुरेन्द्र सिंह, जद यू नेता शैलेन्द्र प्रताप व अन्य जनप्रतिनिधियों से इस विषय पर पुनः चर्चा हुई है।
केन्द्रीय मंत्री अनंत कुमार ने इसका समन्वय करने की जिम्मेदारी ली और शीघ्र हीं एक उच्च स्तरीय बैठक की भी बात कही। इसके पूर्व रुडी ने सांसद ओमप्रकाश यादव, विधायक सुरेन्द्र सिंह, जद यू नेता शैलेन्द्र प्रताप व स्थानीय जन प्रतिनिधियों और अधिकारियों के साथ कटाव स्थल का भी निरीक्षण किया। विदित हो कि घाघरा और गंगा का तटवर्ती क्षेत्र सिताब दियारा लोकनायक जयप्रकाश नारायण की जन्मभूमि और कर्मभूमी रही है। इसका एक हिस्सा बिहार राज्य के सारण में तो दूसरा उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में पड़ता है। घाघरा और गंगा का तटवर्ती क्षेत्र होने के कारण आये दिन यहां बाढ़ की भयावह स्थिति बनी रहती है। रुडी ने कहा कि उनकी बात दोनो राज्यों के मुख्यमंत्रियों से हुई है। शीघ्र हीं बैठक कर इसका निदान निकाला जायेगा।
उन्होंने कहा कि सिताब दियरा का अस्तीत्व खत्म होने की कगार पर है। नदी के पानी के कारण तेजी से कटाव हो रहा है। हालत है कि अगर पानी का स्तर ऐसे ही बढ़ता रहा और मिट्टी का कटाव जारी रहा तो बिहार और उत्तरप्रदेश को बांटने वाला बांध टूट जाएगा। जिससे सिताब दियारा एक इतिहास बन जायेगा। ज्ञातव्य है कि अभी हाल हीं में रुडी ने इस क्षेत्र का भ्रमण करते हुए कटाव को रोकने के पुख्ता इंतजाम अधिकारियों को करने का निर्देश दिया था और नागरिकों को भरोसा दिलाया था कि वे शीघ्र ही दोनो राज्यों के मुख्यमंत्रियों से इस संदर्भ में बात करेंगे। रुडी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की और इसका स्थायी निदान करने आग्रह किया।
सारण- देश के महानायकों को सर्वोचित सम्मान देने के अपने स्वभाविक कर्म को आगे बढ़ाते हुए केन्द्र की राजग सरकार ने बिहार के सिताब दियारा के लाला टोला में जन्में लोकनायक जय प्रकाश नारायण की स्मृति में वहां कई स्मारक और संस्थान निर्माण की प्रक्रिया को त्वरित गति प्रदान की थी। भ्रष्टाचार को देश का शत्रु समझने वाले हृदय से क्रांतिकारी लोकनायक जयप्रकाश नारायण का व्यक्तित्व सर्वप्रिय नेता का है।
अगले वर्ष इसी स्थान पर लोकनायक की जयंती एक भव्य समारोह में मनाई जायेगी, जिसका आमंत्रण प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को भेजा जा रहा है। केन्द्रीय संसदीय कार्य मंत्री अनंत कुमार ने इसे स्वीकार करते हुए आश्वस्त किया है कि अपने जनप्रिय नेता की सिताब दियारा में मनाई जाने वाली 116 वीं जयंती पर प्रधानमंत्री की भी सहभागिता होगी। उक्त बातें सिताब दियारा में जयप्रकाश नारायण की जयंती पर आयोजित कार्यक्रम में पूर्व केन्द्रीय मंत्री सह स्थानीय सांसद राजीव प्रताप रुडी ने कही। उन्होने कहा कि वे अपने को सौभाग्यशाली मानते है कि उन्हें जेपी की जन्मभूमि की जनता का लोकसभा में प्रतिनिधित्व करने का मौका मिला।
उन्होने बताया कि जेपी की जन्मभूमि (लाला का टोला) को पहले हीं केन्द्रीय मंत्रीमंडल की मंजूरी के बाद विश्व पर्यटन के मानचित्र पर लाने का कार्य किया जा रहा है। रुडी ने कहा कि जयप्रकाश नारायण वास्तव में देश भर की जनता के महानायक थे। उन्होने तत्कालिन कांग्रेस सरकार की कुव्यवस्था से त्राहिमाम कर रही जनता को सम्पूर्ण क्रांति का मार्ग दिखाया। जेपी की ताकत का ही परिणाम है कि तत्कालिन इंदिरा सरकार ने आपातकाल लगाने के बावजूद जनता को प्रताड़ित करने के अपने तमाम मंसुबों को फलीभुत नहीं कर सकी।
रुडी ने कहा कि देश में परिवर्तनकारी लहर चलाने वाले जयप्रकाश नारायण की विचारोतेजक भूमि है सिताब दियारा। इस गांव को इतिहास नहीं बनने देंगे। इसे नदी के कटाव से बचाने का प्रयास किया जा रहा है और आगे भी हरसंभव वो उपाय किये जायेंगे जिससे पानी की कटाव से बचाया जा सके।
अपने विचारों दर्शन तथा व्यक्तित्व से देश की दिशा तय करने वाले जेपी मानवतावादी चिंतक थे। भ्रष्टाचार, बेरोजगारी, शिक्षा के क्षेत्र में क्रांति लाने के लिए उन्होंने राजनैतिक, आर्थिक, सामाजिक, सांस्कृतिक, बौद्धिक, शैक्षणिक विषयों को एक क्रांति में समाहित कर संपूर्ण क्रांति आंदोलन चला लोकनायक व सर्वप्रिय शब्द को असलियत में चरितार्थ किया।
जिसकी एक हुंकार पर युवा उठ खड़े होते थे। बुधवार 11 अक्टूबर को जेपी की 115 वी जयंती मनाई गई्। जिसमें केन्द्रीय मंत्री अनंत कुमार, बिहार सरकार के पथ निर्माण मंत्री नंदकिशोर यादव, भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष सह सांसद नित्यानंद राय, जद यू नेता शैलेन्द्र प्रताप, छपरा के विधायक डा॰ सी॰एन॰ गुप्ता सहित कई जन प्रतिनिधि और अधिकारी मौजूद थे।
नीतीश कुमार और योगी के बीच जल्द ही उच्च स्तरीय बैठक Reviewed by on . सारण- लोकसभा संसदीय क्षेत्र के सांसद राजीव प्रताप रुडी ने लोकनायक जयप्रकाश नारायण की धरती सिताब दियारा को नदी के कटाव से स्थायी निदान दिलाने के अपने प्रयास को त सारण- लोकसभा संसदीय क्षेत्र के सांसद राजीव प्रताप रुडी ने लोकनायक जयप्रकाश नारायण की धरती सिताब दियारा को नदी के कटाव से स्थायी निदान दिलाने के अपने प्रयास को त Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top