Wednesday , 17 January 2018

Home » समाचार » क्षेत्रीय » सब्जी खरीदनी है, तो सोच समझकर

सब्जी खरीदनी है, तो सोच समझकर

September 20, 2017 4:11 pm by: Category: क्षेत्रीय, समाचार, सेहत नामा Leave a comment A+ / A-

Variety of fresh raw organic fruits and vegetables in light blue containers sitting on bright blue wooden background

शिवहर- आधुनिक युग का प्रभाव शिवहर सब्जी मंडी में भी दिखने लगा है। आजकल सब्जी मंडी में सब्जियों को बेहतर दिखाने की होड़ में ताजा सब्जी टोकरी में सजाने का सिलसिला वैसे काफी दिनों से चला आ रहा है। शिवहर सब्जी मंडी में अगर आपको सब्जी खरीदनी है, तो सोच समझकर एवं देखकर खरीदनी होगी। कहीं आप भी इस आधुनिक युग के रंगरोहन के शिकार तो नहीं हो रहे है। इस महंगाई के दौर में भी चार-पांच दिन पुराने सब्जियों को केमिकल वाले रंग से ताजा कर के उसे बेचा जा रहा है।

बाजार में सब्जियों का हरा-भरा और ताजा करने को लेकर दुकानदारों ने तरकीब ढूंढ लिया है। बाजार के एक नहीं प्राय: सभी दुकानदारों ने परवल, खीरा, करेला, भिंडी ,हरा मिर्च, घिउरा, लौकी, तोरी जैसे पुराने सब्जियों सलाद में उपयोग आने वाले टमाटर चुकंदर नींबू जैसे को ताजा करने को लेकर केमिकल भरा रंग में भींगोकर तरो-ताजा कर देते हैं। जिस कारण ग्राहक हरा-हरा सब्जी देखकर उसे खरीद लेता है। शहर के जाने-माने चिकित्सक डॉक्टर अरुण कुमार सिन्हा ने बताया है कि इस तरह के कलरफुल सब्जी खाने से गैस्ट्रोएंटेराइटिस बीमारी हो सकती है। जिससे पेट के पाचन क्रिया खराब हो जाती है। ज्यादा सेवन करने से सांस की बीमारी भी हो सकती है।

  • सोनू मिश्रा
सब्जी खरीदनी है, तो सोच समझकर Reviewed by on . [caption id="attachment_51900" align="alignleft" width="300"] Variety of fresh raw organic fruits and vegetables in light blue containers sitting on bright blue [caption id="attachment_51900" align="alignleft" width="300"] Variety of fresh raw organic fruits and vegetables in light blue containers sitting on bright blue Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top