Friday , 19 January 2018

Home » यूथ कॉर्नर » सपने वो, जो आपको सोने न दें

सपने वो, जो आपको सोने न दें

September 2, 2017 10:06 am by: Category: यूथ कॉर्नर Leave a comment A+ / A-

सपने तो वो होते हैं, जो आपको सोने न दें। खुली आंखों से देखे गये सपनों को पूरा करने के लिए आपको अपनी क्षमता और रुचि को जानना होगा। दूसरों को देखकर अपने करियर का निर्णय न करें। अपनी क्षमताओं के आधार पर नई लकीर खींचने की कोशिश करें। अपने अंदर रचनात्मकता को जानने की कोशिश करें। पढ़ाई करने के साथ हमें अक्सर पता ही नहीं होता कि हमें करना क्या है और कहां जाना है। पढ़ने वाले बच्चों को चाहिए कि वे इंटरनेट को अपनी करियर संबंधी जानकारियों का मजबूत माध्यम बनाएं। समय के महत्व को समझें।

माखन पब्लिक स्कूल में आयोजित पहल कल की अभियान में रिटायर्ड आर्मी अफसर और अमेरिका में कंसल्टेंट मेजर चौधरी लवेंद्र सिंह ने छात्र-छात्राओं को करियर की तैयारियों से जुड़े गुर सिखाए। आर्मी सर्विस को लेकर बच्चों की जिज्ञासा का जवाब देते हुए मेजर लवेंद्र ने कहा कि आर्मी देश सेवा के साथ एक ऐसा क्षेत्र है जो आपको नई जीवन पद्धति देता है जो और किसी ऑर्गनाइजेशन में देखने का नहीं मिलती है। आर्मी में समय की पाबंदी का अनुशासन, काम के प्रति प्रतिबद्धता, चुनौती को स्वीकार करने के साथ त्वरित निर्णय लेने की क्षमता और नेतृत्व करने की दक्षता पारंगत करती है। आगे कहा कि जीवन में आगे बढ़ने के लिए जरूरी है कि आप अपनी जिज्ञासा को हर हाल में बरकरार रखें। देखने में आया है कि पढ़ने वाले बच्चों को करियर को लेकर विजन साफ नहीं होता। वह अपनी क्षमता और रुचि को जाने बिना दूसरों से प्रभावित होकर चीजें तय करते हैं। सबसे ज्यादा जरूरी है कि हम सबसे पहले अपनी रुचि के साथ क्षमता का विश्लेषण करें। उसके लिए आवश्यक है कि हम स्वयं ही अपनी खूबियों और कमजोरियों को पहचानें और मन क्या कह रहा है, ऐसे कौन से व्यवसाय और काम हैं जो आपकी रुचि और क्षमता के हिसाब से उचित रहेंगे।

सपने वो, जो आपको सोने न दें Reviewed by on . सपने तो वो होते हैं, जो आपको सोने न दें। खुली आंखों से देखे गये सपनों को पूरा करने के लिए आपको अपनी क्षमता और रुचि को जानना होगा। दूसरों को देखकर अपने करियर का सपने तो वो होते हैं, जो आपको सोने न दें। खुली आंखों से देखे गये सपनों को पूरा करने के लिए आपको अपनी क्षमता और रुचि को जानना होगा। दूसरों को देखकर अपने करियर का Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top