Tuesday , 17 October 2017

Home » कारोबार » डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में 19 पर्सेंट की वृद्धि

डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में 19 पर्सेंट की वृद्धि

August 10, 2017 9:41 am by: Category: कारोबार, प्रमुख समाचार, राष्ट्रीय, समाचार Leave a comment A+ / A-

नोटबंदी के बाद बड़ी संख्या को लोगों को टैक्स के दायरे में लाया गया है और मौजूदा वित्त वर्ष के पहले 4 महीनों अप्रैल से जुलाई के बीच डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में 19 फीसदी की वृद्धि दर्ज की गई है। एक आधिकारिक बयान में कहा गया गया कि डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन, जिसमें पर्सनल और कॉर्पोरेट टैक्स शामिल होता है, अप्रैल से जुलाई के बीच 1.90 लाख करोड़ रुपये तक पहुंच चुका है।

कॉर्पोरेट इनकम टैक्स में 7.2 फीसदी की वृद्धि हुई है और पर्सनल इनकम टैक्स में 17.5 फीसदी उछाल है। बयान में कहा गया, ‘हालांकि रिफंड्स को अजस्ट करने के बाद कॉर्पोरेट इनकमट टैक्स का नेट ग्रोथ रेट 23.2 पर्सेंट और पर्सनल इनकम टैक्स कलेक्शन ग्रोथ रेट 15.7 पर्सेंट है।’ अप्रैल से जुलाई के बीच 61,920 करोड़ टैक्स रिफंड जारी किया गया, जोकि 2016-17 की समान अवधि की तुलना में 5.1 फीसदी कम है। इसी सप्ताह सरकार ने बताया कि नोटबंदी के बाद टैक्स रिटर्न फाइलिंग की संख्या में भारी वृद्धि हुई है। इस साल 2.83 करोड़ लोगों ने टैक्स रिटर्न फाइल किया है, जबकि पिछले साल यह आंकड़ा 2.27 करोड़ था।

डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में 19 पर्सेंट की वृद्धि Reviewed by on . नोटबंदी के बाद बड़ी संख्या को लोगों को टैक्स के दायरे में लाया गया है और मौजूदा वित्त वर्ष के पहले 4 महीनों अप्रैल से जुलाई के बीच डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में 19 नोटबंदी के बाद बड़ी संख्या को लोगों को टैक्स के दायरे में लाया गया है और मौजूदा वित्त वर्ष के पहले 4 महीनों अप्रैल से जुलाई के बीच डायरेक्ट टैक्स कलेक्शन में 19 Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top