Monday , 26 February 2018

Home » महिला दर्पण » आज की आधुनिक महिलाये खुद को कैसे रखे हर परिस्थिति के लिए तैयार

आज की आधुनिक महिलाये खुद को कैसे रखे हर परिस्थिति के लिए तैयार

June 26, 2017 10:47 am by: Category: महिला दर्पण Leave a comment A+ / A-

किसी के पास बहाना है कि उसे अपने लिए वक्त नहीं मिलता तो किसी के पास वाकई वक्त है भी नहीं। ऐसे में रेगुलर बेसिस पर महिला चिकित्सक को विजिट करना भी मुश्किल है। लेकिन कुछ ख़ास तरीकों को अपनाया जाए तो आप घर पर ही अपना ख़ास ख़याल रख सकती हैं। आज की आधुनिक महिलाएं ज्यादा सचेत, ज्यादा जागरूक और ज्यादा साहसी है लेकिन फिर भी जब बात अपना ख्याल रखने की आती है तो लापरवाही। कही आप भी इन्हीं में से एक तो नहीं जो वजन बढ़ने की चिंता में तो डूबी रहती हैं लेकिन वजन कम करने के लिए कोई सार्थक प्रयास नहीं करती।

कुछ टिप्स जिन्हें अपना कर आप हेल्थी रह सकती हैं।
1-महिला चिकित्सक से मिलें (Visit Gynecologist Regularly)-
छह माह में एक बार आप बीमार ना भी हो तब भी अपनी गायनी से जरूर मिलें। छह माह में एक बार अपनी जांच जरूर करायें और जानकारी बढ़ायें। हेल्थी न्यूज़ को लेकर अपडेट रहें।
2- सैर पर जाएं (Walking)-
एक्सरसाइज नहीं कर पाती तो सुबह आधे घंटे ही सही टहलने की आदत डालें। सुबह की खुली और ताज़ी हवा में टहलने से रक्त संचार ठीक होता है साथ ब्रेन को भी ऑक्सीजन मिलती है जिससे दिमाग और शरीर दोनों ही एक्टिव होते हैं।
3- हॉबी के लिए निकाले वक्त (Spare time for Hobby)-
हर किसी की कोई न कोई हॉबी जरूर होती है। किताबें पढ़ना, पेंटिंग बनाना, लिखना, क्राफ्ट बनाना कुछ भी। आप भी खाली समय में अपनी हॉबी को जरूर करें। इससे आपका मन खुश रहेगा जिसका सकारात्मक प्रभाव् आपके पूरे शरीर और दिमाग पर पड़ेगा।
4- पोस्चर का ध्यान रखें (Right Posture)
आप किस तरह बैठी हैं, किस तरह खड़ी हो रही हैं, इसका ध्यान रखें। कई महिलाएं बैठते और खड़े होते समय कंधे झुका लेती हैं या कमर निकाल लेती हैं जिसका असर हड्डियों पर पड़ता है। राईट पोस्चर में बैठने उठने से आपकी कमर और गर्दन रिलैक्स रहती है और हड्डियों पर कम दबाव पड़ता है।
5- वजन को मॉनिटर करें (Monitor Weight Regularly)
समय समय पर अपने वजन को मॉनिटर करें। अपनी हाइट के अनुसार वेट को बनाये रखें। यदि वजन बढ़ रहा है तो खाना छोड़ने की जगह हेल्थी वे यानी की व्यायाम, फ्रूट डाइट आदि के जरिये वजन को कण्ट्रोल करें।
6- दूध और फल है जरूरी (Milk and Fruit)
रूटीन बना लें कि रात को सोते समय एक गिलास दूध पीना ही है और सुबह ब्रेकफास्ट में एक फ्रूट खाना ही है। दूध से आपकी हड्डियों को पर्याप्त कैल्शियम मिलता है जो उम्र बढ़ने के साथ बेहद जरूरी है।
7- हाइजीन का रखें ध्यान (Hygiene)
पर्सनल हाइजीन का ध्यान रखें। अंडर गारमेंट्स हमेशा साफ हों बेहतर है कॉटन के हो। पीरियड्स के समय समय समय पर पेड बदलती रहें तथा साफ सफाई का ध्यान रखें। प्यूबिक हेयर की सफाई भी जरूरी है जिससे आप इन्फेक्शन से बची रहें।
8- ब्रैस्ट टेस्ट करती रहें (Check Breasts Regularly)
क्योंकि महिलाओं में ब्रेस्ट कैंसर का रिस्क बढ़ गया है इसलिए समय समय पर मॉनिटरिंग जरूरी है। इसके लिए आप खुद समय समय पर ब्रेस्ट टेस्ट करती रहें। इसके लिए दोनों हाथों को ऊपर उठाकर साइज़ में फर्क तो नहीं है इसकी जांच करें। हाथ से छूकर देखें कि कही गाँठ तो नही है और कही से स्किन कट या कोई रिसाव तो नही हो रहा।
9-ब्रेकफास्ट (Breakfast)
ब्रेक फ़ास्ट को अपने रूटीन का जरूरी हिस्सा बनाएं। ब्रेकफास्ट आपका मेटाबोलिज्म बढ़ाता है और आपको पूरे दिन एनर्जी देता है। ब्रेकफास्ट ना करने वाली औरतें ब्रेकफास्ट करने वाली औरतों से ज्यादा मोटी होती हैं इसलिए हेल्थी ब्रेकफास्ट जरूर करें।
10- रूटीन बनाएं
हर चीज़ के लिए रूटीन बनाये और समय तय करें। इससे आप पर किसी भी काम का प्रेशर नही रहेगा और आप तनाव में नही आएँगी। काम समय से निपटेगा और आप खुश रहेंगी।
11- हँसना ना भूलें (Laughing)
चाहें जो भी हो खिलखिलाना ना भूलें। हँसना लाख बीमारी की एक दवा है। हँसने से फील गुड हार्मोन्स का रिसाव होता है जिससे मस्तिस्क और बॉडी दोनों हेल्थी रहते हैं।
12- लिफ्ट छोड़कर अपनाएं सीढ़ी (Prefer Stairs rather than Lift)
आप भले जल्दी में हैं फिर भी अपने रूटीन में लिफ्ट छोड़कर सीढ़ी से उतारना चढ़ना करें। इससे आपका ह्रदय स्वस्थ रहेगा साथ ही आपके पैरों की बढ़िया एक्सरसाइज होगी।

आज की आधुनिक महिलाये खुद को कैसे रखे हर परिस्थिति के लिए तैयार Reviewed by on . किसी के पास बहाना है कि उसे अपने लिए वक्त नहीं मिलता तो किसी के पास वाकई वक्त है भी नहीं। ऐसे में रेगुलर बेसिस पर महिला चिकित्सक को विजिट करना भी मुश्किल है। ले किसी के पास बहाना है कि उसे अपने लिए वक्त नहीं मिलता तो किसी के पास वाकई वक्त है भी नहीं। ऐसे में रेगुलर बेसिस पर महिला चिकित्सक को विजिट करना भी मुश्किल है। ले Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top