Monday , 11 December 2017

Home » आपकी समस्या » ब्रेस्ट बढ़ने की घटनाएं पुरुषों में बढ़ रही

ब्रेस्ट बढ़ने की घटनाएं पुरुषों में बढ़ रही

June 8, 2015 1:54 pm by: Category: आपकी समस्या, क्षेत्रीय, प्रमुख समाचार, राष्ट्रीय, समाचार Leave a comment A+ / A-

male-boobsदिल्ली के कॉस्मेटिक सर्जन पिछले कुछ महीनों के दौरान ब्रेस्ट (स्तनों) घटाने के लिए सामने आने वाले युवा पुरुषों के मामलों से हैरान हैं। डॉक्टरों का कहना है कि हर महीने ऐसे 8 से 10 मामले सामने आ रहै हैं, जबकि ब्रेस्ट घटाने के लिए महिलाओं के केस महीने में 3 से ज्यादा नहीं आते। डॉक्टरों का कहना है कि हॉर्मोनल समस्याओं के अतिरिक्त, जिम जाने वालों में स्टेरॉयड का प्रयोग, मोटापा और लाइफ स्टाइल से जुड़े फैक्टर्स इस प्रक्रिया के लिए जिम्मेदार हैं।

बीएलके सुपर-स्पेशलिटी हॉस्पिटल में कॉस्मेटिक सर्जरी डिपार्टमेंट के हेड एस बाथ कहते हैं, ‘युवा पुरुषों के (ब्रेस्ट) स्तनों में वृद्धि की घटनाएं तेजी से बढ़ी हैं। एक दशक पहले तक ब्रेस्ट घटाने के लिए आने वाले पुरुष मरीज की संख्या न के बराबर थी। अब हम हर हफ्ते हमारे सामने ऐसे दो-तीन मामले आ रहे हैं।’

 बाथ कहते हैं, ‘ पुरुषों में ब्रेस्ट में वृद्धि पुरुष और महिला हॉर्मोन्स एंड्रोजेंस और ऑस्ट्रोजेन में असंतुलन के कारण होता है। इसे मेडिकल में गाइनेकोमैस्टिया के नाम से जाना जाता है। यह ज्यादातर 19 से 25 साल के लड़कों में होता है लेकिन कुछ मामलों में ज्यादा उम्र के पुरुषों में भी होता है। लोगों में एक आम गलत धारणा यह है कि पुरुषों में फीमेल हॉर्मोन्स नहीं होते। पुरुषों में फीमेल हॉर्मोन्स होते हैं लेकिन बहुत ही कम मात्रा में। हॉर्मोनल असंतुलन प्राकृतिक तौर पर तब होता है जब मरीज का शरीर फीमेल हॉर्मोन्स के प्रति ज्यादा संवेदशनशील होता है, लेकिन ऐसे मामले दुर्लभ हैं। ज्यादातर मामलों में इसका कारण बाहरी होता है, जैसे खराब पोषण, स्टेरॉयड और शारीरिक अक्षमता।’

एक्सपर्ट्स का कहना है कि ज्यादातर दूध देने वाले और नॉन वेज के लिए प्रयोग किए जाने वाले जानवरों के तेज और ज्यादा उत्पादन के लिए उन्हें दिए जाने वाले ग्रोथ हॉर्मोन्स भी हॉर्मोनल अंसुतलन का कारण हैं। शारीरिक श्रम की कमी इस परेशानी को बढ़ाने वाली होती है। मैक्स हेल्थकेयर के अस्थेटिक ऐंड रिकंस्ट्रक्टिव प्लास्टिक सर्जरी के डायरेक्टर डॉक्टर सुनील चौधरी कहते हैं कि नई बीमारी में लाइफ स्टाइल की बड़ी भूमिका है।

वह कहते हैं, ‘कुछ लोग ज्यादा फिट होने और सुपरस्टार जैसा दिखने के लिए सिक्स पैक्स बनाने के चक्कर में शॉर्टकट अपनाते हैं और स्टेरॉड्स युक्त न्यूट्रिशनल सप्लीमेंट्स का प्रयोग करते हैं। इन प्रॉडक्ट्स के प्रयोग से शरीर में एंड्रोजेंस पैदा होने लगता है। ऑस्ट्रोजेंस से जुड़ी ऐक्टिविटी में बढ़ोतरी पुरुषों में ब्रेस्ट की वृद्धि के रूप में सामने आती है।’

डॉक्टर चौधरी कहते हैं कि वह बॉडी बनाने के लिए स्टेरॉयड के प्रयोग के सख्त खिलाफ हैं। वह कहते हैं, ‘स्टेरॉयड सप्लीमेंट्स को प्रफेशनल स्पोर्ट्स में बैन कर दिया या है। इसके प्रयोग से किडनी फेल हो सकती है।’ यह पाया गया है कि मोट लोगों में एंजाइम और एरोमैट्स की गतिविधि बढ़ने से यह एंड्रोजेंस और ऑस्ट्रोजेंस के रुपांतरण का कारण बनता है। एक सीनियर डॉक्टर ने कहा, ‘फीमेल हॉर्मोन्स होने के कारण ऑस्ट्रोजेंस ब्रेस्ट में वृद्धि का कारण बनता है। यह महत्वपूर्ण है कि स्टरॉयड का प्रयोग रोका जाए।’

कमलेश वर्मा बताते हैं कि उनका बेटे ब्रेस्ट बढ़ने की समस्या से पीड़ित था जिसकी वजह से उसने कभी स्पोर्ट्स में भाग नहीं लिया। वह कहते हैं, ‘मैं उसे एक प्लास्टिक सर्जन के पास ले गया। इलाज के दौरान एक्सट्रा मसल्स को हटाया गया और फैट को बर्न किया गया।’ वर्मा कहते हैं कि अब कई लोग इस समस्या का इलाज खोज रहे हैं।

ब्रेस्ट बढ़ने की घटनाएं पुरुषों में बढ़ रही Reviewed by on . दिल्ली के कॉस्मेटिक सर्जन पिछले कुछ महीनों के दौरान ब्रेस्ट (स्तनों) घटाने के लिए सामने आने वाले युवा पुरुषों के मामलों से हैरान हैं। डॉक्टरों का कहना है कि हर दिल्ली के कॉस्मेटिक सर्जन पिछले कुछ महीनों के दौरान ब्रेस्ट (स्तनों) घटाने के लिए सामने आने वाले युवा पुरुषों के मामलों से हैरान हैं। डॉक्टरों का कहना है कि हर Rating: 0

Leave a Comment

scroll to top